भारत के प्रमुख अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डों की सूची


भारत के प्रमुख अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डे: भारत जैसे विशाल देश में वायु परिवहन जैसे तीवग्रामी साधन का महत्व स्वतः स्पष्ट है, क्योकि आबादी में मामले में भारत विश्व में चीन के बाद दूसरे नंबर पर आता है। ज्यादा आबादी होने के कारण लोगो को यात्रा करने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता था। भारत में वायु परिवहन का प्रारम्भ सन् 1911 में हुआ, जब इलाहाबाद से नैनी के बीच विश्व की सर्वप्रथम विमान डाक सेवा का परिवहन किया गया था। तब से ही वायु परिवहन ने भारत के लोगो की यात्रा को सुगम बना दिया है। पश्चिमी देशों एवं दक्षिणी पूर्व एशिया के बीच संगम-स्थल की भांति स्थित इस देश को वायु परिवहन की दृष्टि से विश्व में केन्द्रीय स्थान प्राप्त है।

आइये पढ़े भारत के प्रमुख अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डों के बारे में:-

हवाई अड्डा शहर राज्य
इन्दिरा गाँधी अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा नई दिल्ली दिल्ली
छत्रपति शिवाजी अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा मुम्बई महाराष्ट्र
नेताजी सुभाष चन्द्र बोस अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा कोलकाता पश्चिम बंगाल
अन्ना अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा चेन्नई तमिलनाडु
बाबा साहेब अम्बेदकर अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा नागपुर महाराष्ट्र
सरदार बल्लभभाई पटेल अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा अहमदाबाद गुजरात
गोपीनाथ बारडोली अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा गुवाहटी असम
चौधरी चरण सिंह अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा लखनऊ उत्तर प्रदेश
श्री गुरु रामदास जी अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा अम्रतसर पंजाब
त्रिवेन्द्रम अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा तिरुअनन्तपुरम केरल
कालीकट अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा कोझीकोड केरल
शेख अलआलम अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा श्रीनगर जम्मू और कश्मीर
राजीव गाँधी अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा हैदराबाद तेलंगाना
कोचीन अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा कोच्चि केरल
वीर सावरकर अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पोर्ट ब्लेयर अंडमान एवं निकोबार
दाबोलिम अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा गोवा गोवा
देवी अहिल्याबाई होल्कर अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा इंदौर मध्य प्रदेश
लाल बहादुर शास्त्री अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा वाराणसी उत्तर प्रदेश
मंगलुरु अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा मंगलुरु कर्नाटक
जयपुर अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डा जयपुर राजस्थान

महत्त्वपूर्ण बिंदु :

  • भारत में वायु परिवहन की शुरुआत सन् 1911 ई. में हुई, जब इलाहबाद से नैनी के बीच विश्व की सर्वप्रथम विमान डाक सेवा का परिवहन किया गया।
  • 1933 ई. में इंडियन नेशनल एयरवेज कंपनी की स्थापना हुई। 1953 ई. में सभी वैमानिक कम्पनीयों का राष्ट्रीयकरण करके उन्हें दो नवनिर्मित निगमों के अधीन रखा गया : भारतीय विमान निगम और एअर इंडिया।
  • भारतीय विमान निगम देश के आंतरिक भागों के अतिरिक्त समीपवर्ती देश नेपाल, बांग्लादेश, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, श्री लंका, म्यानमार तथा मालदीव को अपनी सेवाएँ उपलब्ध कराता है।
  • एयर इंडिया विदेशों के लिए सेवाएँ उपलब्ध कराता है। इसका मुख्यालय नई दिल्ली, निगमित कार्यालय मुम्बई, शुभंकर(mascot) महाराजा, प्रतिक चिन्ह(logo) उड़ते हुए हंस में नारंगी रंग का “कोणार्क चक्र” है।
  • 1988 ई. में देश में घरेलू उड़ान के लिए वायुदूत नामक तीसरे निगम की स्थापना की गयी थी, जिसका बाद में भारतीय विमान निगम में विलय हो गया।
  • 24 अगस्त, 2007 को सार्वजनिक क्षेत्र की विमानन कंपनियाँ एयर इंडिया एवं भारतीय विमान निगम (इंडियन एयरलाइन्स) का विलय हो गया। यह दोनों कंपनीयाँ अब नेशनल एविएशन कंपनी ऑफ़ इण्डिया लिमिटेड (NACIL) के नाम से कार्यरत हो गयी है। कंपनी का ब्रांड नाम “एयर इंडिया” है।
  • भारत में अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा प्राधिकरण देश के चार बड़े हवाई अड्डों- मुम्बई, कोलकाता, दिल्ली और चेन्नई का प्रबंध करता है जबकि राष्ट्रीय हवाई अड्डा प्राधिकरण 86 देशी हवाई अड्डों और रक्षा हवाई अड्डों पर असैनिक उड़ान पट्टियों का प्रबंध करता है।

Rate this content:
5.00 avg. rating (85% score) - 1 vote